Last Update - 23 Sep 2020

कोरोना महामारी में खुला ताजमहल

कोरोना महामारी में खुला ताजमहल

इंडिया में कोरोना की महामारी बहुत तेज से बढ़ रही है। और इसी बीच कुछ शहरों में स्कूल भी खुल दिए गए है। वहीं, देश का सबसे अच्छी और सूंदर जगह ताजमहल को भीं खोल दिया है। लॉकडाउन के स्टार्टिंग से ही ताजमहल को बंद कर दिया था लेकिन ताजमहल को फिर से खोल दिया गया है ताकि लोग फिर से ताजमहल देखने आ सकें

लेकिन कोरोना की खौफ की वजह से ज्यादा लोग नहीं आते है आप को बता दें की कोरोना से पहले 50 से 60 हजार लोग आते थे और अब हजार तक ही आते है ताजमहल में घूम तो पर उसको छू नहीं सकते इस समय वहाँ पर लोगों के चले जाने के बाद सेनटाइज़ किया जाता है।

क्या आप भी ऑनलाइन पैसे कमाना चाहते है।

तालमहल में लोगो की न आने से काफी नुकसान हो गया है आगरा में कोरोना से संक्रमित और संक्रमड़ बढ़ने से लोगो की आगरा आने की संख्या काम हो गई है वहाँ की साडी मार्किट भी बंद ही गई थी वहाँ के लोगों ने बताया की दुकान का किराया भी नहीं निकलता तो इससे पता चलता है की आगरा में कितनी गिरावट चल रही है

कोरोना से लड़ते हुए लोगो के लिए अच्छी खबर

आगरा में हो रही कोरोना महामारी के बीच आई एक अच्छी खबर एसएन मेडिकल कॉलेज में प्लाज्मा थेरेपी से बहुत जल्दी है कोरोना का इलाज किया जायेगा

कोरोना विरेस से ठीक हो गए मरीजों के रक्त प्लाज्मा से इस विरेस की चपेट में आये हुए मरीजों का इलाज किया जाएगा। कोरोना से जितने भी मरीज ठीक हुए है उनमे से एक मरीज के खून से चार मरीज का इलाज होगा।

Internet के बिना ऐसे करें वेबसाइट इस्तेमाल

कहा जाता है की जो मरीज बीमारी से ठीक हो जाता है उसके शरीर में बीमारी की बेअसर करने वाली एन्टीबाटिस का विकास हो जाता है।तो इस तरह से जो नए मरीज हो उनको इस एन्टीबाटिस से ठीक किया जा सकता है अगर कोई भी इंसान कोरोना से संक्रमित है तो उस ब्यक्ति को एंटीबीटीस से बचाया जा सकता है।

किसी भी मरीज से उसके ठीक होने के 14 या 15 दिन बाद ही एंटीबीटिक ले सकते है उस इंसान का कोरोना टेस्ट एक बार नहीं बल्कि दो बार या तीन बार किया जायेगा। और ठीक हुए मरीज का एलिया भी चेक किया जायेगा, यह चेक इस लिए किया जायेगा ताकि पता चल सके की उसके शरीर में एंटीबीटीस कितनी मात्रा में है जिस मरीज का एंटीबीटीस लिया जायेगा उसका पूरी तरह से जाँच किया जायेगा।

More For You

Did you find this page helpful? X